नर्से हड़ताल पर

0
58

ऋषिकेश :

आठ सूत्रीय मांगों को लेकर बीते छह दिनों से आंदोलनरत उत्ताराखंड नर्सेज एसोसिएशन के सदस्यों ने रविवार को भी केवल एक ही शिफ्ट में काम किया। नर्सो की हड़ताल के कारण ऋषिकेश राजकीय चिकित्सालय में भर्ती मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

ऋषिकेश राजकीय चिकित्सालय की नर्सो ने केवल सुबह की शिफ्ट में सुबह आठ से दोपहर दो बजे तक ही काम किया। दोपहर व रात की शिफ्ट में नर्सो के न पहुंचने से मरीजों को इमरजेंसी से लेकर इनडोर तक में परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि हड़ताल को देखते हुए बीते कुछ दिनों से मरीज भी कम भर्ती हुए हैं। कहने को अस्पताल प्रशासन ने वैकल्पिक व्यवस्था के तहत डाक्टरों व इंटर्न को जिम्मेदारी सौंपी है लेकिन इस व्यवस्था से भी मरीजों को खास राहत नहीं मिल रही है। मरीजों के तीमारदार ही उनके लिए ग्लूकोज आदि की व्यवस्था के लिए इधर उधर चक्कर काट रहे हैं। चिकित्सालय के मुख्य चिकित्साधीक्षक डॉ. एके गैरोला ने बताया कि मरीजों को दिक्कतों से बचाने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की गई है। रात्रि ड्यूटी में फार्मासिस्टों से जबकि दोपहर की शिफ्ट में इंटर्न से भी सहयोग लिया जा रहा है।

NO COMMENTS

Leave a Reply