मेरठ गैंगरेप: खरखौदा में शुरू हो गया बवाल, फोर्स तैनात

meerut-kharkhauda-53e3ced368392_exlstमेरठ के खरखौदा कस्बे में बृहस्पतिवार शाम मशाल जुलूस निकालकर संषर्घ समिति के कार्यकर्ताओं ने बवाल खड़ा कर दिया। मशाल लेकर सपा सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए थाने में घुसने पर एसपी देहात और सीओ किठौर से धक्कामुक्की कर दी। इतना ही नहीं कुछ लोगों ने दूसरे समुदाय के लोगों के घरों में पथराव कर तोड़फोड़ कर दी। इस कारण वहां तनाव का माहौल बन गया। वहीं, कैली गांव में धार्मिक स्थल पर पथराव की सूचना से हड़कंप मच गया।

गैंगरेप और धर्म परिवर्तन की घटना से आक्रोशित हिंदू-बेटी बचाओ संषर्घ समिति के कार्यकर्ताओं ने मेन बाजार से मशाल जुलूस निकला। जुलूस के रूप में कार्यकर्ता थाने पहुंचे तो खलबली मच गई। एसपी देहात और सीओ किठौर ने विरोध किया तो हंगामा खड़ा कर दिया। काफी देर बाद कार्यकर्ता वहां से लौट गए। आरोप है कि इसके बाद कुछ लोग दूसरे समुदाय के मोहल्ले में घुस गए। दरवाजों में तोड़फोड़ और पथराव कर दिया। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस दौड़ी तो हमलावर फरार हो गए। तनाव को देखते हुए एसपी देहात ने मोहल्ले में पुलिस तैनात कर दी।

पुलिस के मुताबिक देर रात खरखौदा के कैली गांव में धार्मिक स्थल पर दोबारा पथराव हो की सूचना आई। और भी इस तरह की अफवाहों के चलते पुलिस फोर्स और बढ़ा दी। एसपी देहात कैप्टन एमएम बेग ने बताया कि अफवाहों के चलते फोर्स बढ़ा दी है। रात में खरखौदा में पुलिस ने फ्लैग मार्च निकालकर लोगों से शांति की अपील की।

कैबिनेट मंत्री के खिलाफ गुस्सा
हिंदू बेटी बचाओ संघर्ष समिति के कार्यकर्ताओं ने जुलूस के दौरान कैबिनेट मंत्री शाहिद मंजूर के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की। लोगों का आरोप है कि मंत्री के दवाब में पुलिस मुख्य आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर रही। मंत्री की चुप्पी पर भी लोगों में जबरदस्त आक्रोश है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY