सफाई कर्मियों की हड़ताल खत्म, दूनवासियों ने ली राहत की सांस

शहर में पिछले 11 दिन से जारी सफाई कर्मचारियों की हड़ताल गुरुवार की देर रात मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने खत्म करा दी। गुरुवार सुबह से रात तक कई दौर के घटनाक्रम के बीच जब हड़ताली नहीं माने तो मुख्यमंत्री ने अपने आवास पर अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने मोहल्ला स्वच्छता समिति के कर्मचारियों का मानदेय 166 रुपये प्रतिदिन से बढ़ाते हुए 275 रुपये प्रतिदिन करने का एलान किया। अभी तक 30 कार्य दिवस में कर्मचारियों को 5000 रुपये प्रतिमाह मिल रहे थे, जबकि नई व्यवस्था के तहत उन्हें 8250 रुपये प्रतिमाह मिलेंगे। मुख्यमंत्री ने एलान किया कि यह फैसला सूबे की सभी मोहल्ला स्वच्छता समिति पर लागू होगा। मुख्यमंत्री ने हड़ताल के दौरान बर्खास्त किए गए नाला गैंग के 120 व रात्रि सफाई के 34 कर्मचारियों को दो-तीन दिन में फिर से काम पर रखने के आदेश दिए। साथ ही हड़ताल के दौरान नो वर्क-नो पे व्यवस्था को भी निरस्त कर दिया गया। हड़तालियों की आंदोलन के दौरान 11 दिनों की वेतन कटौती नहीं होगी।  इसके बाद हड़तालियों के नेता सफाई कर्मचारी महासंघ अध्यक्ष राजेश कुमार और महामंत्री धीरज कुमार ने मुख्यमंत्री आवास पर हड़ताल खत्म करने का एलान किया। शुक्रवार सुबह से युद्धस्तर पर शहर की सफाई का काम शुरू कर दिया गया है। इससे शहरवासियों ने राहत की सांस ली। 

NO COMMENTS