CM ने सचिवालय में की चमोली-रुद्रप्रयाग जिले के विधानसभा क्षेत्रों की समीक्षा बैठक

देहरादूनः उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में शुक्रवार को सचिवालय में चमोली रुद्रप्रयाग जिले की विधानसभा क्षेत्रों की समीक्षा बैठक की गई। बैठक में बद्रीनाथ, केदारनाथ और कर्णप्रयाग विधानसभी क्षेत्र में मुख्यमंत्री की घोषणाओं पर समीक्षा की गई। इस दौरान तकनीकी खराबी होने के कारण रुद्रप्रयाग और थराली विधानसभा क्षेत्र की समीक्षा नहीं की गई। जानकारी के अनुसार, समीक्षा बैठक संपन्न होने के बाद सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि बद्रीनाथ में 24 घोषणाएं हुई थी। इन घोषणाओं 2 पूरी हो गई और 19 गतिमान हैं। इसके अतिरिक्त अन्य 2 घोषणाओं पर जल्द ही कार्य पूरा करने के आदेश दिए गए हैं। कर्णप्रयाग विधानसभा क्षेत्र में गैरसैंण के मास्टर प्लान का कार्य गतिमान है। गैरसैंण में पेयजल की समस्या के हल के लिए झील का निर्माण जल्द होगा। भराड़ीसैंण में हेलीपैड का विस्तार किया जाएगा। गैरसैंण में प्रेक्षागृह के लिए डीपीआर बन रही है। कनोठ-खेत-कोली पेयजल लाईन स्वीकृत की गई है। इन घोषणाओं में फैसला लिया गया कि बद्रीनाथ, गोविंद घाट में आधुनिक शौचालयों का निर्माण होगा। जोशीमठ में हेलीपैड निर्माण के लिए भूमि का चयन हो चुका है,इस पर शीघ्र निर्माण शुरू होगा। बद्रीनाथ में पेट्रोल पम्प और गैस एजेंसी बनाने का कार्य जल्द शुरू होगा। बद्रीनाथ के विकास के लिए मास्टर प्लान तैयार बनाया जा रहा है। वहीं बद्रीनाथ, कर्णप्रयाग और केदारनाथ विधानसभा क्षेत्रों में विकास कार्यों की समीक्षा की। केदारनाथ में आपदा में क्षतिग्रस्त तप्त कुण्ड को उसके पुराने स्वरूप में बनाया जाएगा। ऊखीमठ और गुप्तकाशी में पेयजल की योजनाएं प्राथमिकता से पूरी होंगी। लदोली में आंगनबाड़ी भवन निर्माण जल्द होगा।

NO COMMENTS