सीएम रावत की पुलिस शराब और वर्दी के नशे में चूर दिखी!

0
92

 police drinkउत्तराखंड। उत्तरकाशी में इन दिनों माघ मेला चल रहा है। हजारों की भीड़ के मद्देनजर पुलिस पर जिम्मेदारी बड़ जाती है कि वह संयम के साथ शांति व्यवस्था बनाए रखे। लेकिन, उत्तरकाशी में उलटा हो रहा है।

कार में सवार नशे में धुत्त एक कांस्टेबल द्वारा हुडदुंग मचाने के बाद बुधवार रात नशे में धुत्त दो और पुलिसकर्मियों ने बस स्टैंड पर जमकर हंगामा काटा, दुकानदारों और लोगों के साथ मारपीट की।

शराब के नशे में धुत्त पुलिसकर्मियों ने दुकानदारों को जमकर पीटा। इतना ही नहीं वहां से गुजर रहे पूर्व विधायक गोपाल रावत के चालक के साथ पुलिस वालों ने मारपीट की। लोगों ने कोशिश कर एक सिपाही अनिल कुमार को अस्पताल पहुंचाया। वहीं, प्रमोद बिष्ट नाम के दूसरे सिपाही को पुलिस पकड़कर ले गई।

बताया गया कि प्रमोद बिष्ट पहले से ही सस्पेंड चल रहा है। अस्पताल में  कैमरा देख पुलिसकर्मी सिपाही को स्ट्रेचर पर ही छोडकर भाग गए। उधर, पूर्व विधायक गोपाल रावत पीड़ित लोगों के साथ थाने पहुंचे। लेकिन, वहां भी पुलिस ने खुद ही आपा खो दिया और लाठियां भांजकर लोगों को खदेड़ा दिया। दरअसल, यह कोई पहला मामला नहीं है। 17 जनवरी को भी कार चला रहे नशे में धुत्त पुलिस के एक कांस्टेबल ने गंगोत्री हाइवे पर सड़क किनारे खड़ी दूसरी कार को टक्कर मार दी थी। इसके बाद भी हंगाम हुआ और लोगों ने नशे में चूर कार चालक पुलिसकर्मी की पिटाई कर दी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY