जिलाधिकारी डा. आषीश चौहान ने ली चाईल्ड लाईन एडवाईजरी बोर्ड की बैठक

नीरज उत्तराखंडी

चाईल्ड लाईन एडवाईजरी बोर्ड की बैठक लेते हुए जिलाधिकारी डा. आषीश चौहान ने कहा कि जनपद में सभी ग्रामों में ग्राम स्तरीय बाल सुरक्षा समितियों का गठन कर जागरूकता फैलाई जाए। उन्होंने चाईल्ड लाईन को टोल फ्री नम्बर 1098 के स्टीकर वाहनों, स्कूलों व सार्वजनिक स्थलों में लगाएं जाए ताकि बच्चा अथवा अभिभावक किसी प्रकार की समस्या से शीघ्र अति शीघ्र सूचना दे सकें।
जिलाधिकारी डा. चौहान ने कहा कि विद्यालयों में मोटिवेसनल/प्रेरणादायक प्रसंग व वीडियों दिखाकर बच्चों को प्रेरित किया जाए ताकि वे अपराध और गलत कार्यो की ओर न जाए व उनके साथ हो रहें अव्यवहार असुरक्षा को सीधे बता सकें। उन्होंने बच्चों की काउंसिलिंग हेतु माडयूल बनाने के निर्देश दिए ताकि आंगनबाड़ी कार्यकत्री, शिक्षकों, अभिभावकों की कार्यशालाएं आयोजित कर जागरूक किया जा सके। उन्होंने कहा कि बच्चों के स्वास्थ्य व शिक्षा पर कोई विपरीत प्रभाव न पड़े इसके लिए बच्चों को सुरक्षा का माहौल दें। ताकि बच्चे अपनी सुरक्षा महसूस कर सके व सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ें। बच्चों को विद्यालयों में संस्कारित शिक्षा दी जाए व जीवन अमूल्य है का पाठ पढ़ाया जाए ताकि बच्चें अपने सहपाठियों, गुरूजनों, अभिभावकों का सम्मान करें व गलत संगत व अपराध की ओर न जाएं।
जिला समन्वयक जय किशोर सिंह ने बताया कि बाल एवं महिला कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा चाईल्ड लाईन केयर कार्यक्रम 2014 से जनपद में संचालित है। गत वर्ष चाईल्ड लाईन में 541 केस दर्ज हुए जिसमें से 528 केस निस्तारित किए जा चुके है। जबकि 13 केस प्रगति पर है। चालू वर्ष में अब तक 221 केस दर्ज हुए है। जिसमें से 128 केस बालकों व 93 केस बालिकाओं के पंजीकृत हुए है। जिसमें से 164 केसों का निस्तारण कर दिया गया है। श्री सिंह ने बताया कि इनमें अधिकतर केस बच्चों के स्वास्थ्य व मारपीट से सम्बंधित है। इनमें विहार,नेपाल, दिल्ली, उत्तरप्रदेष,मेरठ, बरेली, हिमाचल प्रदेश, बदांयू,हरियाणा, पानीपत, क्षेत्र के बच्चों के केस अधिकतर है।
जिलाधिकारी ने कहा कि चाईल्ड लाईन बच्चों से जुड़ा है इसलिए सभी संबंधित अधिकारियों व स्वयं सेवी संस्थाओं के सदस्यों को संवेदनशील होकर गहराई से चितंन करते हुए सक्रियता से कार्य करें।
बैठक में सीएमओ डा. विनोद नौटियाल, मुख्य शिक्षाधिकारी आरसी आर्य, एआरटीओ चक्रपाणी मिश्र, एडवोकेट पमीता थपलियाल, एस.एल.पैन्यूली, सुरेश परमार, दीपक उप्पल, कमला, बबीता आदि मौजूद थे।

NO COMMENTS