उत्तरकाशी में भूकंप के झटके, दहशत में आए लोग

उत्तरकाशी जिले की गंगा और यमुनाघाटी में भूकंप के झटके महसूस होने से लोग दहशत में आ गए। आनन फानन लोग घरों से बाहर निकल गए। कहीं किसी नुकसान की सूचना नहीं है।

उत्तराखंड भूकंप के दृष्टि से जोन आठ में है। यहां पहले भी बड़े भूकंप आ चुके हैं। उत्तरकाशी के लोग वर्ष 1991 में आए विनाशकारी भूकंप को अभी भूले नहीं हैं। उस दौरान करीब सात सौ लोगों की मौत हो गई थी। यहां हाल ही में छह जून को भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। हालांकि उस दिन केंद्र टिहरी जनपद था, इसकी तीव्रता ज्यादा नहीं थी।

आज सुबह करीब 6.12 बजे भूकंप के पहला झटका महसूस किया गया। इससे लोग घरों से बाहर निकल गए। इसके बाद 6 बजकर 23 मिनट पर दूसरा झटका महसूस किया गया।

आपदा प्रबंधन केंद्र के मुताबिक भूकंप की तीव्रता 4.0 आंकी गई। इसका केंद्र उत्तरकाशी मुख्यालय से दस किलोमीटर दूर था। इसका अक्षांश 30.8N, देशान्तर 78.2E और गहराई  10km रही। मामूली तीव्रता के इस भूकंप से लोग दहशत में आ गए।

NO COMMENTS