अब आने वाले समय में बदल जाएगा आपका SMS

SMS यानी शॉट मैसेजिंग सर्विस का उपयोग करने वाले लोगों की दुनिया में कोई कमी नहीं है। चैटिंग एप्स व फास्ट इंटरनैट के आने से इसके उपयोग में कमी जरूर आई है लेकिन आज भी जरूरत पडने पर लोग टैक्स्ट मैसेज का उपयोग करते हैं। इस तकनीक को नैक्स्ट लैवल पर ले जाने के लिए 43 नैटवर्क प्रदाता व स्मार्टफोन निर्माता मिल कर इसे और बेहतर बनाने के काम में जुटे हैं। माना जा रहा है कि SMS को अब नई RCS मैसेजिंग तकनीक के साथ बदला जाएगा। इस नई तकनीक में यूजर्स को ऐसे कई नए फीचर्स मिलेंगे जो मैसेज के जरिए बिजनैस करने व तस्वीर आदि को सैंड करने में मदद करेंगे। यह टैक्स्ट मैसेजिंग का नया वर्जन होगा और इसे पूरी दुनिया के एंड्रॉयड यूजर्स तक पहुंचाया जाएगा। आपको बता दें कि यह जानकारी गूगल ने अपने ब्लॉग पोस्ट के जरिए सार्वजनिक की है।

क्या है RCS तकनीक
RCS तकनीक को रिच कम्युनिकेशन सर्विस कहा जाता है जो SMS यानी टैक्स्ट मैसेजिंग तकनीक को रिप्लेस करने के लिए लाई जाएगी। यह तकनीक रीड रिसीप्ट्स, ग्रुप चैटिंग और हाई रैजोलूशन इमेज को सैंड करने में मदद करेगी। इसे खास तौर पर व्हाट्सएप और फेसबुक मैसेंजर एप की तरह चलाने में आसान व फुल्ली फीचर्ड बनाया जा रहा है।

एक वर्ष से हो रहा इस तकनीक पर काम
पिछले वर्ष गूगल ने इस सर्विस को लेकर घोषणा की थी कि वह 27 नैटवर्क प्रदाताओं व मोबाइल निर्माताओं के साथ मिल कर नैक्स्ट जैनरेशन टैक्स्ट मैसेजिंग सर्विस पर काम कर रही है लेकिन अब गूगल ने ब्लॉग पोस्ट के जरिए बताया है कि 43 अलग-अलग नैटवर्क प्रदाता व मोबाइल निर्माता गूगल के साथ इस तकनीक को लेकर काम कर रहे हैं। इससे यह साफ जाहिर होता है कि इस तकनीक पर लगातार काम हो रहा है और जल्द ही टैस्ट के बाद इसे यूजर्स तक पहुंचाया जाएगा।

बिजनेस को मिलेगा बढ़ावा
गूगल इस नई मैसेजिंग तकनीक को खासतौर पर बिजनैस करने वाले लोगों के लिए ला रही है। माना जा रहा है कि इस RCS तकनीक से ग्राहक तक प्रोडक्ट से जुड़ी पूरी जानकारी व उसे खरीदने के लिए ऑर्डर प्लेस करने की भी सुविधा मिलेगी। मैसेज के जरिए ही ऐसी सुविधाएं मिलने से बिजनैस को काफी बढ़ावा मिलेगा।

NO COMMENTS