शिकारी जिम कार्बेट की राइफल पहुंची लंदन से रुद्रप्रयाग, उमड़ी लोगों की भीड़!

jim-corbett-rifleवर्ष 1926 में जिस राइफल से प्रसिद्ध शिकारी जिम कार्बेट ने 125 लोगों को निवाला बनाने वाले आदमखोर गुलदार से जनता को निजात दिलाई थी, उस राइफल की प्रदर्शनी शुक्रवार को जिला मुख्यालय के गुलाबराय में स्थित जिम कार्बेट पार्क में लगाई गई

जिम कार्बेट की इस राइफल को देखने के लिए स्थानीय लोगों की भारी भीड़ उमड़ी राइफल को लंदन से यहां लाया गया था कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए जिला जज आशीष नैथानी ने कहा कि जिम कार्बेट ने रुद्रप्रयाग की जनता को आदमखोर गुलदार से निजात दिलाई थी

उन्होंने कहा कि जिम कार्बेट को भी नरभक्षी गुलदार को मारने में काफी पापड़ बेलने पड़े थे उन्होंने कहा कि जिम कार्बेट द्वारा जनता पर किए गए उपकार को हमें कभी नहीं भूलना चाहिए

जिम कार्बेट ने अपनी जान की प्रवाह किए बगैर उस आदमखोर गुलदार को मार गिराया था छह कुमाऊं रेजीमेंट के कर्नल राजीव नयन सिंह और पुलिस अधीक्षक प्रहलाद नारायण मीणा ने कहा कि जिम कार्बेट के बारे में किताबों में पढ़ा गया है

जिम कार्बेट एक महान शिकारी हुए हैं उस दौर में यहां गुलदार का आतंक था और उस गुलदार ने लगभग 125 लोगों को निवाला बनाया था, जिसके बाद उस गुलदार को मारने के लिये जिम कार्बेट को बुलाया गया था रुद्रप्रयाग में ही जिम कार्बेट ने नरभक्षी गुलदार को मारा था

कार्यक्रम में उप वन संरक्षक राजीव धीमान ने कहा कि कार्यक्रम आयोजित करने का मुख्य उददेश्य जनता को उस राइफल के बारे में अवगत कराना था, जिस राइफल से जिम कार्बेट ने आदमखोर गुलदार को मारा था उन्होंने कहा कि जिम कार्बेट की वह रायफल आज भी संरक्षित है इसी प्रकार हमें वनों का संरक्षण भी करना चाहिए आज लोग वनों को आग लगा रहे हैं, जिससे पर्यावरण प्रदूषित हो रहा है पर्यावरण संरक्षण के लिए सभी को आगे आना होगा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY