शहीद दीपक नैनवाल का पार्थिव शरीर घर पहुंचा, बेटी ने दी पिता को श्रद्धांजलि

बीती 10 अप्रैल को कश्मीर के कुलगाम जिले में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में घायल नायक दीपक नैनवाल के पुणे के पैराप्लेजिक रिहैब सेंटर में रविवार को अंतिम सांस लेने के बाद सोमवार को उनका पार्थिव शरीर दून लाया गया। एयरपोर्ट से पार्थिव शरीर को सीधे मिलिट्री अस्पताल के शव गृह ले जाया गया। सैन्य सम्मान के साथ मंगलवार को हरिद्वार में उन्हें अंतिम विदाई दी जाएगी। सेना का दल और शहीद दीपक नैनवाल के परिजन सोमवार को नैनवाल का पार्थिव शरीर पुणे से लेकर दून पहुंचे। जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर नैनवाल के परिजन व रिश्तेदार पहले से शहीद दीपक के पार्थिव शरीर के इंतजार में खड़े थे। पार्थिव शरीर को एयरपोर्ट से बाहर निकलते देख यहां खड़े सभी की आंखों में आंसू आ गए। 9 महार बटालियन के सैनिक भी एयरपोर्ट पहुंचे थे। जहां से शहीद का पार्थिव शरीर एम्बुलेंस से मिलिट्री अस्पताल देहरादून लाया गया। फिलहाल शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखा गया है। दीपक नैनवाल के पिता चक्रधर व दीपक का छोटे भाई प्रदीप ने बताया कि मंगलवार सुबह साढ़े सात बजे के बीच पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए हर्रावाला के सिद्धपुरम कालोनी स्थित घर लाया जाएगा। अंतिम दर्शन के बाद सैन्य सम्मान के साथ हरिद्वार में अंतिम संस्कार होगा।

शहीद नायक दीपक नैनवाल की मां पार्वती बेहोशी की हालात में है। परिजन और रिश्तेदार लगातार सांत्वना दे रहे हैं। शव के दून पहुंचने के बाद से घर में परिजनों की आंखों में सिर्फ आंसू हैं। मां की जुबान पर तो सिर्फ एक बात है कि दीपू को घर ले आओ।

सीएम के पीआरओ दिनभर शहीद के परिजनों के साथ रहे
शहीद दीपक के जीजा आशीष ने बताया कि सोमवार दोपहर के समय मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के जनसंपर्क अधिकारी संदीप सिंह एयरपोर्ट पहुंचे। पार्थिव शरीर आने से लेकर मिलिट्री अस्पताल तक वे साथ रहे। ताकि किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो।

NO COMMENTS