इन 5 आहारों से बढ़ जाती है दिल के बीमारियों की संभावना

  • दिल मांसपेशियों से बना अंग है जो शरीर के विभिन्न अंगों में ब्लड की पम्पिंग करता है।
  • फास्टफूड्स को बनाने में मैदा और पॉलिश्ड राइस का इस्तेमाल किया जाता है।
  • सोडा और कोल्ड ड्रिंक्स भी हमारे दिल के लिए बहुत नुकसानदेह हैं।

जीवनशैली में बदलाव, जरूरत से ज्यादा तनाव और शारीरिक मेहनत की कमी के कारण आजकल दिल की बीमारियां लोगों को घेर रही हैं। दिल की बीमारियों की एक और बड़ी वजह हमारा आज का खान-पान है। दिल मांसपेशियों से बना अंग है जो शरीर के विभिन्न अंगों में ब्लड की पम्पिंग करता है। दिल की रक्त प्रवाहित करने वाली धमनियों में जब रूकावट आती है तो उस हिस्से में रक्त का संचार ना होने से मांसपेशियां मरने लगती हैं। जिससे दिल की क्रियाविधि प्रभावित होती है, इसी को हार्ट अटैक कहते हैं। ऐसे बहुत से खाद्य पदार्थ हैं जिन्हें हम रोजाना खाते हैं मगर वो हमारे दिल और लिवर को नुकसान पहुंचाते हैं। आइये आपको बताते हैं कि रोजाना की किन चीजों को खाने से हमारे दिल पर पड़ता है बुरा प्रभाव।

पिज्जा और मार्केट के फ्राइड राइस

आजकल ज्यादातर फास्टफूड्स को बनाने में मैदा और पॉलिश्ड राइस का ही इस्तेमाल किया जाता है। पिज्जा, ब्रेड, रुमाली रोटी, नूडल्स, केक आदि फूड्स मैदे से बने होते हैं जबकि बाजार में बिकने वाला फ्राइड राइस, बिरयानी और मंचूरियन आदि में चावलों को ज्यादा खूबसूरत बनाने के लिए और उन्हें अलग-अलग दिखाने के लिेए पॉलिश्ड चावल का इस्तेमाल किया जाता है। मैदा और पॉलिश्ड राइस दोनों को ही रिफाइन करते समय इसमें मौजूद विटामिन बी1 यानि थियामिन निकल जाता है। थियामिन की कमी के कारण इन्हें पचाने में लिवर को ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है और शरीर में मौजूद विटामिन बी1 का इस्तेमाल करना पड़ता है। इसलिए इनके ज्यादा सेवन से दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

सोडा ड्रिंक्स और कोल्ड ड्रिंक्स

सोडा और कोल्ड ड्रिंक्स भी हमारे दिल के लिए बहुत नुकसानदेह हैं। इन दोनों को पीने से ही ब्लड में शुगर का लेवल बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। इसके अलावा सोडा और कोल्ड ड्रिंक्स में मौजूद पदार्थों के कारण शरीर में डिप्रेशन के हार्मोन्स एक्टिव हो जाते हैं जिससे दिल और दिमाग दोनों प्रभावित होते हैं। इसी वजह से कोल्ड ड्रिंक्स पीने से भी दिल की बीमारियों का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है।

कॉफी क्रीम और पॉपकॉर्न

कॉफी पीने से भी आपका दिल प्रभावित हो सकता है अगर इसमें आपने मार्ग्राइन से बनी कॉफी क्रीम मिलाई है। दो-तीन से ज्यादा कॉफी रोजाना पीना वैसे ही सेहत के लिए नुकसानदायक है। इन कॉफी क्रीम्स में ट्रैन्स फैट होता है। इसी क्रीम का इस्तेमाल कई बार बटर फ्लेवर पॉपकॉर्न बनाने में भी होता है इसलिए ये भी आपकी सेहत के लिए नुकसानदेह है।

वसा वाले आहार

तेल और घी में बनने वाले पदार्थों में वसा खूब होता है इसलिए ज्यादा तेल-घी से बने पदार्थों का सेवन भी आपके दिल के लिए खतरनाक है। असल में पकौड़ा, समोसा, पूरी, टिकिया आदि तेल में बनने वाले पदार्थों में फैट और कैलोरीज की मात्रा ज्यादा होती है। शरीर की जरूरत से ज्यादा कैलोरीज शरीर में फैट के रूप में जमा होती रहती हैं। जब तेल को एक तय तापमान से ज्यादा गर्म करते हैं तो ट्रांस फैट, फैटी एसिड में बदलने लगते हैं। ये दिल के लिए बहुत अस्वस्थ और खतरनाक है।

नॉनवेज का ज्यादा सेवन

नॉनवेज यानि मांसाहार के बहुत सारे फायदे हैं। कई ऐसे विटामिन्स और एंटीऑक्सिडेंट्स हैं जो मांसाहारी भोजन में ही पाए जाते हैं। लेकिन जरूरत से ज्यादा मांसाहारी भोजन का सेवन भी दिल की बीमारियों को दावत देता है। मांसाहारी भोजन में सैचुरेटेड फैट और कोलेस्ट्रॉल बहुत ज्यादा होता है इसलिए इसके ज्यादा सेवन से धमनियां संकरी होकर ब्लॉक हो सकती हैं और इससे हार्ट अटैक या हार्ट ब्लॉक हो सकता है।

NO COMMENTS