कुल्हाड़ी से काटकर परिवार के तीन लोगों की हत्या

एक ही परिवार के तीन लोगों की कुल्हाड़ी से काटकर निर्मम हत्या कर दी। यह हत्या 10 साल पुराने नौकर प्रताप ने की है। यह  मामला हरिद्वार के भगवानपुर के लवा गांव का है। हमले में परिवार की तीन लड़कियां भी घायल हो गईं। हत्या के बाद नौकर ने जहर खा लिया। रुड़की अस्पताल से देहरादून ले जाते समय उसने दम तोड़ दिया।

करीब 55 वर्षीय हत्या का आरोपी प्रताप इस परिवार के साथ 10  वर्ष से रह रहा था। पुलिस के हाथ उसका लिखा सुसाइड नोट भी मिला। पुलिस मामले की अभी जांच कर रही है। मृतकों में राज सिंह (50) वर्ष पुत्र कालूराम, प्रदीप कुमार (17 वर्ष) पुत्र राज सिंह, बबली (47 वर्ष) पत्नी राज सिंह है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पंचनामा भर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। डीआजी पुष्पक ज्योति, एसएसपी कृष्ण कुमार वीके, एसपी देहात मणिकांत मिश्र भी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली।

साथ ही मौके पर एहतियात के तौर पर पीएसी तथा थाने की भारी फोर्स लगाई गई है। हत्या की वजह अभी पता नही चल पाई है। हमले में राजसिंह के साले की लड़की शिवानी, राजसिंह की बेटी लक्ष्मी और आरती भी घायल हैं। आरती का हाथ कट गया। राज सिंह के बड़ी बेटी मांगी ने एक कमरे का दरवाजा बंद कर खुद की जान बचाई। मांगी की 30 अप्रैल को शादी थी। तीनों घायलों को दून अस्पताल रेफर किया गया है।

परिवार में प्रभुत्व जमाना चाहता था प्रताप 

परिवार के तीन लोगों की हत्या करने वाले प्रताप ठाकुर ने सुसाइड नोट भी छोड़ा है। जिसमे उसने बताया है कि वह परिवार पर अपना प्रभुत्व जमाना चाह रहा था। लेकिन परिवार ने उसे कुछ दिन पहले अलग कर दिया था। इस बात को लेकर उसने पूरे परिवार की हत्या करने की बात कही थी। सुसाइड नोट कब्जे में लिया है।

NO COMMENTS