उत्तराखंड की बेटी ने बढ़ाया देश का मान, जर्मनी में भारत की झोली में डाला गोल्ड

उत्तराखंड की देवांशी राणा ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शूटिंग में दो मेडल जीतकर देश के साथ राज्य का भी मान बढ़ाया है। उन्होंने जर्मनी में चल रही आइएसएसएफ जूनियर व‌र्ल्ड कप शूटिंग की 10 मीटर एयर पिस्टल टीम इवेंट में कास्य और मिक्स डबल्स में सौरभ चौधरी के साथ मिलकर स्वर्ण पदक जीता है।

21 से 29 जून तक जर्मनी में आयोजित आइएसएसएफ जूनियर व‌र्ल्ड कप शूटिंग में उत्तराखंड की देवांशी राणा भारतीय महिला जूनियर टीम से प्रतिभाग कर रही हैं। देवाशी ने टीम इवेंट में मनु भाष्कर, महिमा अग्रवाल के साथ मिलकर 10 मीटर एयर पिस्टल में कास्य पदक जीता है।

इसके बाद गुरुवार को मिक्स डबल्स में सौरभ चौधरी के साथ मिलकर उन्होंने स्वर्ण पदक भी जीता। पूर्व में देवांशी आस्ट्रेलिया के सिडनी में हुए जूनियर व‌र्ल्ड कप में 10 मीटर और 25 मीटर एयर पिस्टल टीम इवेंट में गोल्ड मेडल जीते चुकी हैं।

देवांशी मूल रूप से टिहरी जिले के थत्यूड़ ब्लॉक के थीलामाऊ गांव की निवासी हैं, जबकि उनका परिवार सहसपुर स्थित मंझौन में रहता है। देवांशी पूर्व खेल मंत्री नारायण सिंह राणा की पोती और पूर्व अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज व वर्तमान में भारतीय निशानेबाजी टीम के कोच जसपाल राणा की बेटी हैं।

अपने पिता से ही प्रेरणा लेकर वह शूटिंग के क्षेत्र में आई हैं। मंझौन शूटिंग रेंज में उन्होंने शूटिंग की बारीकिया सीखी। इसके बाद पिता ने उन्हें दिल्ली के डॉ. कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में प्रोफेशनल शूटिंग का प्रशिक्षण लेने भेजा।

जसपाल राणा निशानेबाजी संस्थान मंझौन के सह सचिव अनिल कवि ने बताया कि देवांशी के प्रदर्शन से सभी खुश हैं। उत्तराखंड के सभी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के निशानेबाजों ने देवांशी को शुभकमानाएं दी हैं।

NO COMMENTS