कौन है विश्नोई समाज जिसकी सलमान खान की सजा में है अहम भूमिका

20 साल पुराने काला हिरण शिकार मामले में जोधपुर कोर्ट ने सलमान खान को दोषी करार दे दिया है। कोर्ट ने उन्‍हें पांच साल की सजा सुनाई है. सलमान पर दस हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया हैै. इस मामले में शामिल अन्‍य आरोपियों को बरी कर दिया गया है.
बाकी आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया है। फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान सन् 1998 में उन पर दो काले हिरणों के शिकार का मामला दर्ज किया गया था। सलमान के अलावा उनके को-एक्टर्स सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, तब्बू और नीलम भी इस मामले में आरोपी थे। सजा के बाद सलमान को जोधपुर जेल ले जाया गया है।सलमान खान को जोधपुर सेंट्रल जेल की बैरक नंबर एक में रखा गया है। सलमान की सजा में विश्नोई समाज की अहम भूमिका है।

कौन है बिश्नोई समाज
सलमान खान को वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शन एक्ट के तहत दोषी करार दिया गया है। सलमान खान को हिरण के शिकार मामले में कोर्ट की चौखट तक वाले समूह को बिश्नोई समाज के नाम से जाना जाता है। यह समाज पर्यावरण के प्रति अपने लगाव को लेकर विश्व भर में प्रसिद्ध है। किवदंतियां हैं कि पौधों और पशुओं की रक्षा के लिए इन्होंने अपनी जान तक दे दी है। सलमान खान को सजा मिलते ही बिश्नोई समाज में खुशी का माहौल है।

NO COMMENTS